Connect with us

Published

on

नई दिल्ली। रिटायरमेंट के बाद आर्थिक रूप से सबसे बड़ा सहारा साबित होने वाले पेंशन के लिए नियमों में सरकार ने कुछ संशोधन किया है। जिसके साथ ही अब लाखों कर्मचारियों को ज्यादा फायदा होगा। संशोधन के मुताबिक सात साल से कम के सेवाकाल में सरकारी कर्मचारी की मृत्यु पर उसके परिवार के सदस्य अब बढ़ी हुई पेंशन पाने के हकदार होंगे।

माना जा रहा है कि इस कदम का लाभ केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के जवानों की विधवाओं को मिल सकेगा। इससे पहले, यदि किसी कर्मचारी की मृत्यु सात साल से कम के सेवाकाल में हो जाती थी तो उसके परिजनों को आखिरी वेतन के 50 प्रतिशत के हिसाब से बढ़ी हुई पेंशन मिलती थी। अब सात साल से कम के सेवाकाल में मृत्यु होने पर कर्मचारी के परिजन बढ़ी हुई पेंशन पाने के पात्र होंगे।

सरकारी अधिसूचना के अनुसार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केंद्रीय सिविल सेवा (पेंशन) नियम,1972 में संशोधन को मंजूरी दे दी है। ये नियम केंद्रीय सिविल सेवा (पेंशन) दूसरा संशोधन नियम, 2019 एक अक्टूबर, 2019 से लागू होंगे।

पारिवारिक पेंशन पाने के शर्त पूरे करने होंगे
अधिसूचना में कहा गया है कि ऐसे सरकारी कर्मचारी जिनकी मृत्यु एक अक्टूबर, 2019 तक 10 साल का कार्यकाल पूरा करने से पहले हो जाती है और उन्होंने लगातार सात साल तक का सेवाकाल पूरा नहीं किया है,उनके परिजनों को एक अक्टूबर, 2019 से उप नियम (3) के तहत बढ़ी हुई दर पर पेंशन मिलेगी। इसके लिए पारिवारिक पेंशन पाने की अन्य शर्तों को पूरा करना होगा। इसमें कहा गया है कि मृत्यु पर ग्रैच्यूटी के संदर्भ में ग्रैच्यूटी की राशि कार्यालय के प्रमुख द्वारा उसके पूरे सेवाकाल के बारे में जानकारी और सत्यापन के बाद तय की जाएगी। कार्यालय प्रमुख अस्थायी मृत्यु ग्रैच्यूटी के भुगतान की तारीख से छह माह के भीतर इस राशि को तय करेगा।

बटुआ

काची केरी ने अंगूर काला …. गुजराती ने बोलबाला…. फोर्ब्स ने भी साबित कर दिया

Published

on

काची केरी ने अंगूर काला, आमे गुजराती लेरी लाला…. फोर्ब्स की सूची देखने के बाद आज सुबह से ये गाना मेरे दिलो दिमाग में छाया हुआ है। औऱ हो भी क्यों न…. ठीक गाने की बोल की तरह फोर्ब्स की सूची में भी गुजरातियों का ही बोलबाला दिखाई दे रहा है। टॉप 5 में 4 तो मोटा भाई ही निकले और इन चारों की कुल संपत्ति लगभग 7 लाख करोड़ रूपए… हुआ न बोलबाला।

इस सूची में लगातार 12वें साल गुजराती भाई मुकेश अंबानी का टॉप पर बने हुए हैं। इसके बाद  गौतम अडाणी का नंबर आता है जो इस साल दूसरे सबसे अमीर भारतीय बन गए हैं। खास बात यह है कि सूची में शामिल पांच सबसे अमीर भारतीयों में से चार गुजराती हैं। इसमें चौथे नंबर पर पालोनजी मिस्त्री औऱ पांचवें नंबर पर उदय कोटक काबिज हुए हैं।

Continue Reading

बटुआ

बैंकन मा कछु काम रूका होए तो जल्दी निपटाए लो भइये, काहे की…

Published

on

बैंकन मा कछु काम रूका होए तो जल्दी निपटाए लो भइये, काहे की...

नई दिल्ली। जी हां, बैंक से संबंधित आपका कोई भी काम रूका हो तो 25 सिंतबर के पहले ही निपटा लें। बात ऐसी है कि अगले हफ्ते चार दिन बैंक बंद रहेंगे। ऐसे में आपका हर एक काम अटक सकता है इतना ही नहीं एटीएम से भी पैसे निकालने की मुश्किल भी सामने आ सकती है।

दरअसल, बैंकों ने दो दिवसीय हड़ताल का ऐलान किया है, जिसके कारण 26 तथा 27 सितंबर को बैंक बंद रहेंगे। जबकि 28 तथा 29 सितंबर को शनिवार तथा रविवार की छुट्टी है। वहीं, 30 सितंबर को बैंक खुलेंगे, लेकिन अर्द्धवार्षिक समापन होने के कारण इस दिन लेनदेन नहीं होगा।

एटीएम में होगी नकदी की किल्लत

बैंकों के पांच दिन तक लगातार बंद रहने से इसका असर एटीएम पर पड़ना लाजिमी है। एक दो दिन तक भले ही परेशानी न हो, लेकिन इसके बाद इसमें नकदी की किल्लत हो सकती है। इसका कारण यह है कि एटीएम में दो दिन की नकदी क्षमता होती है। इस दौरान बैंक बंद रहने से एटीएम में नकदी भी नहीं डाली जाएगी।

चेक क्लियर होने में 7 दिन लगेंगे

सबसे ज्यादा परेशानी चेकों के क्लियर होने में होगी। अधिकारियों के अनुसार, 25 सितंबर को लगाया गया चेक 3 सितंबर तक क्लियर हो पाएगा। 25 सितंबर का चेक 30 सितंबर को खुलेगा। इसके बाद एक अक्टूबर को क्लीयर होगा। दो को फिर छुट्टी है। ऐसे में 3 सितंबर को खाते में पैसा आएगा।

Continue Reading

Trending